OMG! सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई धज्जियां तो ये ब्रेसलेट कर देगा आपके होश फाख्ता, जानें कैसे

OMG! सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई धज्जियां तो ये ब्रेसलेट कर देगा आपके होश फाख्ता, जानें कैसे

उत्‍तर प्रदेश के मेरठ के एक इंजीनियरिंग छात्र ने ऐसी डिवाइस तैयार की है जो ब्रेसलेट की शक्ल में है.

Uttar Pradesh News: मेरठ के इंजीन‍ियर‍िंग के छात्रों ने ब्रेसलेट की तरह दिखने वाला ड‍िवाइस बनाया है ज‍िस व्यक्ति ने इसे पहना हुआ है और वो अगर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाता है तो ये ब्रेसलेट ऐसा करंट मारता है कि होश फाख्ता हो जाते है और फिर वो सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करने लगता है.

कोरोना को अगर हराना है तो हमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है, लेकिन कई लोग ऐसे हैं जो मानने को राज़ी नहीं है. ऐसे में उत्‍तर प्रदेश के मेरठ के एक इंजीनियरिंग छात्र ने ऐसी डिवाइस तैयार की है जो ब्रेसलेट की शक्ल में है. इसको पहनने के बाद व्यक्ति चाहकर भी सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन नहीं कर सकता. जैसे ही ब्रेसलेट पहना हुआ व्यक्ति सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाता है तो ये ब्रेसलेट ऐसा करंट मारता है कि होश फाख्ता हो जाते है और फिर वो सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करने लगता है.
कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां बाज़ारों में कैसे उड़ती हैं इससे सामना हम आप रोज़ाना करते हैं. कोरोना को हराने में सोशल डिस्टेंसिंग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है लेकिन लोग हैं कि मानने को राज़ी नहीं. ऐसे लोगों को ठीक करने के लिए मेरठ के एक छात्र ने ऐसा ब्रेसलेट तैयार किया है जो सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों को ज़ोर का करंट मारता है. ब्रेसलेट पहनते ही व्यक्ति सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने की हिम्मत नहीं करता, क्योंकि उसे सोशल डिस्टेंसिंग करने पर ऐसे ज़ोर का करंट लगता है कि होश ठिकाने हो जाते हैं.
इस ब्रेसलेट को पहनकर कोई भी खुद ब खुद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने लगता है. ब्रेसलेट पहनने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने वालों को ऐसा ज़ोर का करंट लगता है कि वो कभी नहीं भूलता. मेरठ में इंजीनियरिंग के एक छात्र पुनीत उपाध्याय ने जब अपने ही दोस्त पर इस ब्रेसलेट का प्रयोग किया तो उसने सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर कसम खा ली. उन्‍होंने कहा क‍ि इतनी ज़ोर का करंट लगा है कि अब वो कभी भी सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन नहीं करेगा. इस ब्रेसलेट को दो लोगों ने पहनकर जब डेमो किया तो वो तीन मीटर से ज्यादा पास नहीं आ सके. जैसे ही वो सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हैं उन्हें ऐसा करंट लगता है जैसे उन पर किसी ने लाठी से प्रहार कर दिया हो.इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनयिरिंग लास्ट ईयर के छात्र पुनीत इसे पेटेंट कराने की भी सोच रहे हैं. छात्र पुनीत उपाध्याय का कहना है कि इस ब्रेसलेट को जो भी एक बार पहन लेगा वो कोई और गलती तो कर सकता लेकिन कम से कम सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने की गलती नहीं करेगा. इस ब्रेसलेट को बनाने वाले इंजीनियरिंग के इस छात्र का कहना है कि सरकार के लाख चाहने के बावजूद लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर उनका ये ब्रेसलेट वरदान की तरह काम कर सकता है. छात्र का कहना है कि अब पुलिस के साथ साथ ये ब्रेसलेट सोशल डिस्टेंसिंग करवाएगा.

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )