12.8 C
London
Monday, September 20, 2021

सीएम धामी ने कहा – उत्तराखंड को बनाया जाएगा आध्यामिक और सांस्कृतिक राजधानी

- Advertisement -spot_imgspot_img

टिहरी गढ़वाल. उत्तराखंड में पिछले काफी दिनों से भारी बारिश (Heavy Rain) का दौर जारी है. इस वजह से न सिर्फ गंगा, यमुना, भागीरथी, अलकनंदा, मंदाकिनी, पिंडर, नंदाकिनी, टोंस, सरयू, गोरी, काली, रामगंगा आदि सभी नदियां उफान पर हैं बल्कि बादल फटने की भी घटनाएं लगातार हो रही हैं. यही नहीं, अभी उत्तरकाशी में कल देर रात बादल फटने के बाद शुरू किया गया रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. इस बीच टिहरी गढ़वाल के भिलंगना ब्लॉक में बादल फटने (Tehri Garhwal Cloud Burst) से 4-5 घर तबाह होने की खबर से दहशत फैल गई है. फिलहाल रेस्क्यू टीम मौके के लिए रवाना हो गई है. जबकि जानमाल के नुकसान को लेकर प्रतीक्षा है.इससे पहले उत्तरकाशी में कल देर रात बादल फटने के कारण तीन लोगों की मौत हो चुकी है, तो अभी चार लोग लापता बताए जा रहे हैं. हालांकि अभी रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है.उत्तराखंड में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट
मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और पौड़ी जैसे जिलों में अत्यंत भारी बारिश की संभावना है. वहीं, उत्तरकाशी समेत राज्य के बाकी हिस्सों में भी भारी से बहुत भारी बारिश के आसार है. इस बाबत मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. वहीं, लगातार हो रही बारिश की वजह से नदियां उफान पर हैं, जिसकी प्रशासन सतत निगरानी कर रहा है. वहीं, राज्‍य में काफी स्थानों पर भारी बारिश से भूस्खलन होने से मार्ग यातायात के लिए अवरूद्ध हैं जिन्हें खोलने के प्रयास जारी हैं. जबकि कई स्थानों पर अतिवृष्टि से मकानों और खेतों में मलबा भी घुस आया है.ये भी पढ़ें- Uttarkashi Cloud Burst: उत्तरकाशी में बादल फटने से 3 लोगों की मौत, सीएम धामी ने रेस्क्यू ऑपरेशन में तेजी के दिए आदेशबता दें कि उत्तराखंड के सीएम पुष्‍कर सिंह धामी ने बारिश और बादल फटने की घटनाओं के बीच सभी जिलों के अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए हैं, ताकि कम से कम समय में प्रभावित लोगों तक मदद पहुंच सके. यही नहीं, जितनी जल्‍दी मदद पहुंचेगी उतना नुकसान भी कम होगा.

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here