मुख्तार अंसारी के बांदा जेल शिफ्ट होते ही गुर्गे कर रहे किराए के मकान की तलाश, जानिए क्यों?

मुख्तार अंसारी के बांदा जेल शिफ्ट होते ही गुर्गे कर रहे किराए के मकान की तलाश, जानिए क्यों?

जेलर और डिप्टी जेलर पर हमले के मामले में मुख्तार अंसारी पर आरोप तय होंगे.

Mukhtar Ansari News: उत्तर प्रदेश के बांदा में माफिया मुख्तार अंसारी के जेल में आने के बाद उसे परिवार के लोग और गुर्गे यहां किराए के मकान की तलाश में हैं. मुख्तार अंसारी को कुछ दिन पहले पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा शिफ्ट किया गया है.

बांदा. यूपी के बांदा जेल (Banda Jail) में माफिया मुख्तार अंसारी (Mafia Mukhtar Ansari) के जेल में शिफ्ट होने के बाद कई तरह की चर्चा जोरों पर शुरू हो गई हैं. कहा जा रहा है मुख्तार जहां भी रहता है, वहां उसके गुर्गे कई जगह किराए का मकान ले कर वही अपना ठिकाना बना लेते हैं. और यहीं से गैंग ऑपरेट करने लगता है.
बता दें इससे पहले भी माफिया मुख्तार अंसारी यूपी की बांदा जेल में काफी लंबे समय तक रहा. बांदा जेल से ही माफिया मुख्तार अंसारी बाहुबली विधायक अपने रुतबे के चलते बांदा जेल में ऐश कर रहा था. अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद जेल प्रशासन ने माफिया मुख्तार अंसारी को बांदा जिला अस्पताल पहुंचाया था, जहां परिजनों ने आरोप लगाया कि मुख्तार अंसारी को चाय में जहर देकर मारने का प्रयास किया गया है. हालांकि जांच रिपोर्ट आने के बाद यह बात भी सामने आई कि मुख्तार अंसारी को जेल के अंदर दिल का दौरा पड़ने जैसी कोई दिक्कत थी.
… इस तरह निकल गया था रोपड़ जेल
इसके बाद प्राथमिक उपचार देने के बाद आनन-फानन में लखनऊ के पीजीआई इलाज के लिए भेजा गया था. पीजीआई में इलाज कराने के बाद माफिया मुख्तार अंसारी वहीं लखनऊ से ही पंजाब की रोपड़ जेल के लिए निकल गया था हालांकि उस समय भी चर्चा का विषय बना हुआ था. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आते ही यूपी के डॉन माफिया मुख्तार अंसारी बांदा की जेल में स्वास्थ्य खराब होने का नाटक करके पंजाब के रोपड़ जेल भाग गया था और काफी लंबे समय से पंजाब की रोपड़ जेल में आराम से ऐश कर रहा था. उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले की सुध ली और सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कीजिए की. सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय देते हुए माफिया मुख्तार अंसारी को यूपी की जेल मे शिफ्ट करने के आदेश दिया. आखिरकार यूपी का डॉन माफिया मुख्तार अंसारी बांदा जेल आ गया.
मुस्लिम बाहुल्य खाइपार इलाके में मकान की तलाश
अब एक बार फिर से चर्चा जोरों पर है कि माफिया मुख्तार अंसारी के गुर्गे बांदा जनपद में किराए के मकान की तलाश कर रहे हैं. हालांकि पहले भी जब मुख्तार अंसारी बांदा की जेल में रहा है. उस दौरान भी मुख्तार अंसारी के गुर्गे और परिवार के लोग बांदा शहर कोतवाली क्षेत्र के खाइपार में रहते थे. सूत्र और लोगों कहना है कि रात में मुख्तार अंसारी भी वीआईपी ट्रीटमेंट के चलते जेल से बाहर निकल कर आ जाता था और अपने घर परिवार के बीच खाइपार मे रहता था और खाना पीना खाकर सुबह निकल जाता था.
अब पता चला है कि इस बार भी मुख्तार अंसारी के परिवार और उसके गुर्गे बांदा जनपद में जेल के आसपास और मुस्लिम बाहुल्य इलाके खाइपार में एक फिर से मकान की तलाश कर रहे हैं. पहले भी मुख्तार का परिवार बांदा में एक ठेकेदार के मकान में किराए से रहता था.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )