महिला ने दिया ’15’ महीने के बच्चे को जन्म, 16 घंटे मेहनत के बाद गर्भ से खींच पाए डॉक्टर-नर्स

महिला ने दिया ’15’ महीने के बच्चे को जन्म, 16 घंटे मेहनत के बाद गर्भ से खींच पाए डॉक्टर-नर्स

किसी भी महिला के लिए मां बनने का अहसास सबसे खूबसूरत होता है. 9 महीने तक बच्चे को गर्भ में रखने के बाद जब बच्चा दुनिया में आता है तो मां को उसे पैदा करने में हुई सारी तकलीफ कम लगने लगती है. डिलीवरी के दर्द (Labour Pain) को सिर्फ एक मां ही झेल पाती है. लेकिन जरा उस महिला के बारे में सोचिये जिसे ये दर्द पुरे 16 घंटे सहना पड़ा हो? वो भी नॉर्मल बच्चे के जन्म से 6 महीने बड़े साइज के बच्चे को पैदा करने में? इसमें तो उस महिला की जान ही निकल जाए. इंग्लैंड की रहने वाली बेयर ने ये दर्द झेला भी और ब्रिटेन के सबसे बड़े बच्चे को जन्म देकर रिकॉर्ड भी बनाया.5 अप्रैल को ब्रिटेन की बेयर अस्पताल अपने चौथे बच्चे की डिलीवरी के लिए पहुंची. उसका पेट इतना ज्यादा बड़ा था कि डॉक्टर्स को उम्मीद थी कि उसके गर्भ में दो बच्चे पल रहे हैं. काफी देर तक बेयर की डिलीवरी नहीं हो पाई. इसके बाद अगले 16 घंटे डॉक्टर्स और नर्स इस कोशिश में जुटे रहे. आखिरकार 16 घंटे के बाद बेयर के गर्भ से बच्चे को बाहर निकाला जा सका. बच्चे का साइज देखते ही डॉक्टर्स और नर्सों की आंखें फ़टी रह गई. बेयर का बच्चा आम तौर पर 6 महीने के बच्चे जितना बड़ा था. उसका वजन 5 किलो 100 ग्राम के करीब था.बर्बाद हो गए सारे कपड़े
बेयर ने बच्चे का नाम रोनी जय (Ronny-Jay) रखा है. बेयर के मुताबिक़, रोनी के जन्म से 6 महीने पहले से ही वो उसके कपड़े खरीद रही थी. लेकिन सब कुछ बर्बाद हो गया. रोनी इतना बड़ा पैदा हुआ कि उसके लिए बाजार से 6 महीने के बच्चे को फिट आने वाले कपड़े खरीदने पड़े. अभी बेयर को रोनी के लिए फिर से शॉपिंग करनी पड़ेगी. बेयर के मुताबिक, जब उसने पहली बार रोनी को देखा तो उसे विश्वास ही नहीं हुआ कि उसका जन्म अभी अभी हुआ है.कम पड़ जा रहा मां का दूध
रोनी जन्म के समय ही 5 किलो से ज्यादा वजन का था. डॉक्टर्स के मुताबिक, रोनी का अंबरीकल कॉर्ड किसी रस्सी जितना मोटा था. उसे देखकर वो दंग रह गई थी. पहले तो सभी को उम्मीद थी कि जुड़वा बच्चे पैदा होने. लेकिन ये गलत साबित हुआ. चार्ट में रोनी की वेट और हाइट जब डाली गई, तो अब तक अस्पताल में पैदा हुआ सबसे बड़ा बच्चा निकला. बेयर के मुताबिक, रोनी की डायट काफी ज्यादा है. वो उसे दूध पिलाती है लेकिन वो कम पड़ जाता है. इस वजह से उसे मार्केट का दूध पिलाना पड़ रहा है.आराम से है सोता
बेयर ने बताया कि सिर्फ रोनी का पेट भरा होना चाहिए. इसके बाद उसे कोई फर्क नहीं पड़ता. वो आराम से सो जाता है. अभी तक बेयर ने तीन और बच्चों को जन्म दिया था लेकिन इतना ज्यादा दर्द उसे कभी महसूस नहीं हुआ. रोनी के साइज को देखते हुए बेयर ने कहा कि आम तौर पर महिला 9 महीने में बच्चे को जन्म देती है. लेकिन उसे ऐसा लगता है कि उसने 15 महीने में ऐसा किया है.पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )