नया या सेकंड हैंड आइफोन खरीदते समय जरूर चेक करे ये सेटिंग, कभी नहीं खाएंगे धोखा

नया या सेकंड हैंड आइफोन खरीदते समय जरूर चेक करे ये सेटिंग, कभी नहीं खाएंगे धोखा

नई दिल्ली. यदि आप पुराना या कहे सेंकड हैंड आईफोन खरीदने का प्लान कर रहे है तो उसे लेकर कुछ बातें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है. सेंकड हैंड फोन खरीदना वैसे ही रिस्की होता है. खासतौर से जब हमें उसके बारे में पूरी जानकारी न हो. क्योंकि मार्केट में मौजूद सेंकड हैंड आईफोन के कई वेरिएशन मिलते है और यदि सही नॉलेज ना हो तो आप ऐसा फोन भी खरीद सकते है जिसके लिए आपने ज्यादा कीमत चुकाई. तो आज जानते है कि पुराना आईफोन खरीदते समय वो कौन सी चीजें है जिनका ध्यान रखना जरूरी है.सेटिंग में जाकर यह करे चैक
सेंकड हैंड आईफोन लेने से पहले आपकी आईफोन की सेटिंग में जाकर अबाउट फोन में जाना होगा. यहां आपको फोन का मॉडल नंबर नजर आएगा. यही वह चीज है जो आपको बता देगी कि आपका फोन किसी कैटेगिरी में है. जानिए सीरिज में मौजूद शुरूआती अल्फाबेट का मतलब –
– अपने आईओएस डिवाइस पर सेटिंग ऐप खोलें.
– सूची में जनरल टैप करें
– सूची के शीर्ष पर विकल्प के बारे में टैप करें.
– आपके डिवाइस का मॉडल पहचानकर्ता मॉडल नंबर के आगे दिखाया गया है.ये भी पढ़ें – बैंक खाते से किसी ने पैसे उड़ा लिए तो क्या करना चाहिए, कैसे वापस मिलेगी पूरी रकम

यहां जाने सेटिंग्स में नजर आ रहे अल्फाबेट का मतलब M – यह एक रिटेल फोन है जिसे बिल्कुल नया खरीदा गया था.
F – यह डिवाइस पहले इस्तेमाल किया गया था, लेकिन इसे “नया जैसा” बनाने के लिए ऐपल के सर्टिफाइड री फरबिशमेंट से गुजरना पड़ा है. रीफर्बिश्ड आईफ़ोन और आईपैड से सावधान रहें जो अविश्वसनीय विक्रेता बिल्कुल नए उपकरणों के रूप में पूरी कीमत पर पेश करते हैं.
N – मालिक को यह उपकरण Apple सर्विस अनुरोध के माध्यम से उनकी मूल रूप से खरीदी गई इकाई के रिप्लेसमेंट के रूप में प्राप्त हुआ था.
P – यह एक नया रिटेल डिवाइस है जिसे ऑनलाइन ऑर्डर किया गया था और चेकआउट के समय ऐपल के कस्टम लेजर एनग्रेविंग ऑप्शन के दिया गया था.इम्पोर्टेड फोन भी है मार्केट मेंटेक्निकल एक्पर्ट आकाश हजारे बताते है कि मार्केट में ऐपल के इम्पोर्टेड वर्जन के आईफोन भी है. इस तरह के फोन को खरीदने से बचना चाहिए. क्योंकि हो सकता है कि कुछ समय बाद यह लॉक हो जाए. ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि यह फोन चोरी के रहते है और जब इन्हें बाद से इस्तेमाल किया जाता है कि कंपनी इस फोन को लॉक कर देती है जिसके बाद यह किसी काम के नहीं बचते. इन फोन को बेचने वाले बिल नहीं देते है जिसके चलते भविष्य में ऐपल ऐप स्टोर में इनकी वॉरंटी भी नहीं मिलती.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )