जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में बाघों की बहार, लॉकडाउन के बाद ऐसे जाएं

जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में बाघों की बहार, लॉकडाउन के बाद ऐसे जाएं

जिम कार्बेट नेशनल पार्क

जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) में आप लुप्तप्राय रॉयल बंगाल टाइगर (Royal Bengal tiger) भी देख सकते हैं. यहां अब कुल 260 बाघ हैं.

कोरोना महामारी (Covid 19) में जहां पूरे देश में लॉकडाउन और अनलॉक की प्रक्रिया चल रही है तो वहीं घूमने के शौक़ीन लोग कोरोना संकट के पूरी तरह से खत्म होने का इंतज़ार कर रहे हैं ताकि वो घूमने जा सकें. लंबे समय से लॉकडाउन के कारण कई लोग उकता चुके हैं लेकिन कोरोना संकट के बाद अगर आप कोई टूर प्लान करने वाले हैं तो दिल्ली के नजदीक जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व (Jim Corbett National Park) आपके लिए बेहतर रहेगा. लेकिन जब भी टूर प्लान करें तो पूरे एहतियात के साथ ही प्लान करें. जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व बाघों के लिए जाना जाता है. आइए बताते हैं क्या है जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में आपके लिए क्या है ख़ास…
उत्तरखंड के नैनीताल में बना जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) साल 1936 में हेली नेशनल पार्क के नाम से मशहूर था. इसका निर्माण सर जिम कॉर्बेट ने सहयोग और सिफारिश के जरिए लुप्त होते बाघों के संरक्षण के लिए करवाया था. जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व 520 स्क्वायर किलोमीटर में फैला है. वैसे यह पार्क भले ही बाघों के संरक्षण के लिए बनवाया गया हो लेकिन वर्तमान में यहां चिड़ियों की 586 प्रजातियां और पेड़-पौधों की 488 प्रजातियां देखी जा सकती हैं. यहां पर आप लुप्तप्राय रॉयल बंगाल टाइगर (Royal Bengal tiger) भी देख सकते हैं. यहां अब कुल 260 बाघ हैं.जिम कार्बेट नेशनल पार्क को कई जोन में बांटा गया हैं ये इस तरह हैं- जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान में टूरिस्ट जोन, बिजरानी ज़ोन, झिरना सफारी जोन, ढेरा सफारी जोन, ढिकाला जोन, दुर्गा देवी जोन, जंगल सफारी.पार्क में जाने का बेहतर समय:जिम कार्बेट नेशनल पार्क जाने का सबसे बेहतर समय नवंबर और फरवरी के बीच होता है. सर्दियों के मौसम के दौरान सभी क्षेत्र खुले होने की वजह से आप यहां ज्यादा जानवरों को देख पाएंगे.
कैसे पहुंचे जिम कार्बेट नेशनल पार्क:
यह नेशनल पार्क दिल्ली से लगभग 260 किमी दूर, भारत के उत्तराखंड राज्य के एक शहर रामनगर में है. अआप यहां ट्रेन और सड़क मार्ग से आसानी से जा सकते हैं .

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )